मेरा मेहबूब दिल- ए – गुलज़ार मुझसे मिलने आया है #पहली मुलाकात #मोहब्बत

आज फिर मुझे उस दिल – ए- गुलजार पे प्यार आया है….,
देखो – देेेखो मेरा मेहबूब खुद लिए दीदार आया हैं….।
खो ना दूं होश अपने.., तसव्वुर उसका करके..,
आज धड़कनों में भी एक बदलाव आया है..।
क्या कहूं साथी तुमको…..??
आज मेरा जां- निसार आया है।IMG 20200906 091819

साथ है वो इस पल में जो …..,

तो जीने में करार आया है….।
भुलाकर अपने हर काम को, उसका ही ख्याल आया है…।
केसे बताऊं….ख़ुशी अपनी यारो..??
आज मुझसे मिलने ,सिर्फ मेरे लिए…, दिले बहार आया है…।

साथ उसके हर पल चलना ..,जैसे जीने में जीना लाया है…..।
चलती हवा, थमती धड़कन, लबो पे मुस्कुराहट सजाया है…।

उसके करीब होने का अहसास.. हर पल मुझे गुदगुदाया है…,
केसे बताऊं ख़ुशी अपनी.., कितना मुझे प्यार आया है..??
आज मेरा मेहबूब.., दिले गुलजार.., मुझसे मिलने आया है।।IMG 20200906 091740

कांपने लगे है हाथ मेरे.., ख़ुशी भी ना-जता सकता हूं…।
बस लबो पे मेरे है मुस्कुराहट…,हर तरफ ख़ुशी- सी

छाई है।
सोचा भी ना मोहब्बत में मेरी.., मकाम ये भी लाया है…।

आज मेरा मेहबूब… गूल – ए- गुलजार…, मुझसे मिलने आया है…।

दीदार के उसके पंक्ति क्या कहूं…..,??
आंखे देखूं…? के लबों के उसको….??
कभी थाम लू मैं बढ़कर हाथ…….,
कभी कानो मै उसकी आवाज सूनूं…।
जाने क्यू आज खुद पर भी.., मुझको यूं प्यार आया है,

आज मेरा मेहबूब.., दिल – ए- बेमिसाल.., मुझसे मिलने आया है..।IMG 20200906 091711

आइना भी देख – देखकर अक्श …, कितना ये शर्माया है..…।
आज मेरा मेहबूब…., गुल – ए- गुलज़ार मुझसे मिलने आया है।
हां….., ये खुशी…, कुछ पल की ही सही…,
पर ज़िन्दगी ये जिलाया है……।
मेरा मेहबूब मुझसे मिलने…., देखो मिलने….. , मेरे लिए ही आया है……।।

8 thoughts on “मेरा मेहबूब दिल- ए – गुलज़ार मुझसे मिलने आया है #पहली मुलाकात #मोहब्बत

  1. Subhanallah fabulous post didu #yaara nd mere dill ki feelings ko aapne etne behtareen andaaz me lafzo me utaar diya superb didu ♥️♥️♥️♥️♥️♥️

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: