मंजर-मंजर की बात निराली देखी! #हिंदू-#मुस्लिम #एकता 😍🌹

कहीं गूंजता शोर जो उठने पर जनाजा ..,”कलमें” का मुझे सुनता है…,

क्या करूं एक शोर अर्थी उठने पर “राम नाम” का भी सुनता है…!IMG 20200517 171902

एक तरफ जनाजा उठाई कोई खड़ा है..,

दूसरी तरफ अर्थी सजाए कोई खड़ा है..।

मंज़र मंज़र की बात यह कैसी निराली देखीं हैं..,

लबों पर भले हो हजारों कड़वाहट ,पर दिलों में मोहब्बत देखी है..।IMG 20200517 171946

कोई सूबकी भर-भर कर, इस तरह से रोता है…,

कोई चुप रह-रह कर सब्र के घूंट यूं पीता है..।

लोग लगे रहते हैं नफरत फैलाने में…,

मेरे पड़ोसी लगे है मोहब्बत फेलाने में..!

कौन कहता है हिंदू मुस्लिम एक ना होते…,

मैं मंजर यहां कुछ देख रही हूं..!IMG 20200517 172006 1

उढ़ता जो जनाजा मुस्लिम का.. तो, हिंदु आंखें भीगा रहा है.,

सजी जो अर्थी हिंदू कि..,तो मुस्लिम आंसू बहा रहा है…!

क्या कहूं सब्र की एक मिसाल आज यह देखी है…,

सिर्फ ईद-दिवाली में ही नहीं.., मैंने गमीं में भी एकता देखी है….।IMG 20200517 172016 1

लोगो में नफरत फैलाने वालों ,तुम सब दूर खड़े रहो..,

आज फिर मैंने अपना में “इंसानियत” झलकती देखी है। ंIMG 20200325 WA0011

11 thoughts on “मंजर-मंजर की बात निराली देखी! #हिंदू-#मुस्लिम #एकता 😍🌹

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: