खुशियों का सागर #बिटिया #अन्तर्राष्ट्रीय बिटिया दिवस

मैं चंचल हूं…, नटखट हूं.., देखो कैसी प्यारी हूं…!
मैं रानी हूं.., गुड़िया हूं.., बाबा की राज दूलारी हूं…।IMG 20201011 095247

मुझे पूजा जाता हैं पूजा में…,
मै झुलू देखो सावन झुलो में।
मैं करती पप-पग चहल- पहल…,
मैं खुशियां बांटू इधर उधर…।IMG 20201011 WA0048

मैं हूं खुशियों का सागर..,
मुस्कुराहट मेरा हथियार है…।
मैं कहदुं प्यार से बाबा…,
सब दौलत मुझपे निसार है…।IMG 20201011 WA0011

मै चलना चाहूं आजादी से..,
मैं उड़ना चाहूं बिन खोफ के..!
पर लगता डर अब डर से है..,
मुस्कुराहट भी अपनी छुपाए हैं।।

लिबास से देखो अपने .. जिस्म को छुपाए है…,
लगता डर है मुझको… अंजाने से छू जाने का..!
खामोशि भरा डर है मुझको.., मुस्कुराहट के छीन जाने का..।IMG 20200726 094443 1

बांटती खुशियां चारों तरफ..,
थोड़ा सम्मान मुझे भी दो..।
गुड़िया लाडली कहते हो..,
थोड़ा दुलार हमें भी दो..!!IMG 20201011 WA0042

ज्यादा नहीं बस थोडी- सी…,
आजादी ही दिला दो ना…।
बेखौफ घूमे गली- गली …,
ऐसा सम्मान दिला दो ना…।IMG 20201011 WA0041

पढ़े- बढ़े खूब बढ़े…,
नाम रोशन करने दो ना..।
ज्यादा मेहनत नहीं मानते बस..,
सम्मान भरी आजादी दिला दो ना..।।

One thought on “खुशियों का सागर #बिटिया #अन्तर्राष्ट्रीय बिटिया दिवस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: